Architectural WorksFeng-shuiHouseholdOthers

रंगों से महकाएं अपना घर

वास्तु शास्त्र में रंगों को बहुत महत्व है। प्रकृति ने अनेक रंगों का सृजन किया है। प्रत्येक रंग की अपनी नियति तथा अलग प्रभाव होता है,जो मानव जीवन को प्रभावित करता है। इस आलेख में प्रस्तुत है रंगों के प्रभाव पर संक्षिप्त चर्चा।
यदि आप अपने घर का नवीनीकरण अथवा उसकी मरम्मत करवा रहे हैं, तो आप नीचे दी गयी सूचि के अनुसार रंगों का उपयोग करके अपने घर को कार्यशील बना सकते हैं।

 

दिशा   तत्व सबसे उत्तम रंग अच्छा रंग बुरा रंग
उतर – पूर्व पृथ्वी

पीला,

मटमैला

लाल,

नारंगी

हरा
उत्तर जल

नीला,

काला

सफेद,

रूपहला

पीला,

मटमैला

उत्तर – पश्चिम धातु

सफेद,

रूपहला

पीला,

मटमैला

लाल,

नारंगी

पश्चिम धातु

सफ़ेद,

सलेटी

पीला,

मटमैला

लाल,

नारंगी

दक्षिण – पश्चिम पृथ्वी

पीला,

मटमैला

लाल,

नारंगी

हरा
दक्षिण अग्नि

लाल,

नारंगी

हरा

नीला,

काला

दक्षिण – पूर्व काष्ठ हल्का हरा

नीला,

काला

सफेद,

रूपहला

पूर्व काष्ठ हरा नीला,

काला

सफेद,

रूपहला

मध्य पृथ्वी

पीला,

मटमैला

लाल,

नारंगी

हरा

 

आप अपने घर के कमरों को संवंधित स्थान के तत्व अथवा इसे उत्पन्न करने वाले तत्व के अनुरूप विशिष्ट रंगों से रंगवा सकते हैं। पर आपको इस बात का विशेष ध्यान रखना होगा कि रंगों का चुनाव छेत्र के तत्वों के विपरीत न हो । उदहारण के लिए दक्षिण दिशा के कमरे में नीला अथवा काला रंग तथा उत्तर- पूर्व दिशा के कमरे में हरा रंग न लगवाये ।

 

Leave a Reply