HouseholdOthers

वास्तु टिप्स

  1. आपके घर का दक्षिणी और पश्चिम हिस्सा भारी व ऊँचा होना चाहिए। आपके घर का उत्तरी और पूर्वी हिस्सा अधिक खाली रखना चाहिए इसके भरा होने से मानसिक परेशानियाँ रहती हैं।
  2. घर का मध्य स्थान जिसे ब्रह्म स्थान भी कहा जाता है हमेशा खाली ही रखना उचित रहता है।
  3. पूजा पाठ करते समय आपका मुख पूर्व या उत्तर दिशा की ओर होना चहिए घर की पूर्व दिशा में धातु से निर्मित चीजें न रखें। इस दिशा में धातु से निर्मित चीजें रखने से व्यक्ति नकारात्मक ऊर्जा और चिन्ता से घिर सकता है।
  4. घर की दक्षिण दिशा में नीले रंग तथा पानी अथवा झरने की तस्वीर न लगायें ये पारिवारिक सदस्यों के सम्मान और उन्नति को नुक्सान पहुंचाने वाली होती है।
  5. घर की दक्षिण-पश्चिम दिशा में पौधे रखना अशुभ होता है। ये दिशा पारिवारिक रिश्तों और विवाह सम्बन्धी इच्छा से जुड़ी होती है इसलियें यहाँ पौधे रखने से विवाह में रूकावट और दाम्पत्य जीवन में कलह रहता है।
  6. ताजे फूलों को घर में रखने से सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता है यदि ये फूल मुरझाने लगें तो इन्हें घर में न रखें।                                   main
  7. घर में कभी भी टूटी फूटी तस्वीरें अथवा मूर्ति नहीं रखनी चाहियें। अगर कोई मूर्ति या तस्वीर टूट जाए तो उसे तुरंत घर से हटा दें।   मूर्तियों का खंडित होना अपशगुन माना जाता है छत पर उल्टा   मटका रखने से परेशानियाँ आती हैं यह भूल कर भी न रखें।
  8. घर का पूर्वी हिस्सा अगर ऊँचा है तो यह एक वास्तु दोष है। इस से बच्चों का मानसिक और शारीरिक विकास नहीं हो पाता
  9. ईशान कोण में टॉयलेट बनवाने से घर के निवासी अत्यधिक तनाव मे रहते हैं तथा उनकी उन्नति एवं प्रगति रुक जाती है।
  10. घर में नकारात्मक ऊर्जा दूर करने के लिए लाल नमक एक काँच के कटोरे में भरकर अपने रूम या लॉबी में रखें, बुरे सपने या विचार नहीं आयेंगे।
  11. वास्तु दोष दूर करने के लियें एक कटोरी में साबुत नमक भरकर बाथरूम में रखें इससे नकारात्मक ऊर्जा दूर होती है।
  12. घर में बंद घडी भाग्य को अवरुद्ध करती है।
  13. जो बच्चे पढाई में कमजोर हैं उन्हें पूर्व की तरफ मुख करके अध्ययन करना चाहियें इससे उन्हें लाभ होगा।
  14. पूजा स्थल में सुबह शाम दीपक जलाना सौभाग्यवर्धक होता है, पूर्वजों के चित्र पूजा कक्ष में रखना शुभ नहीं होता। घर में पूर्वजों के चित्र पश्चिम दिशा की दीवार में ही लगाएं ।
  15. बैडरूम में झूठे बर्तन रखने से दिमागी परेशानी बनती है। बैडरूम में झाड़ू और अधिक जूते- चप्पल भी नहीं रखने चाहियें शयनकक्ष में बैड के बीचो-बीच कोई इलेक्ट्रॉनिक उपकरण नहीं रखना चाहिए इससे शयन करता का पाचन ख़राब हो सकता है। शयनकक्ष में मंदिर, देवी-देवताओं के चित्र न रखें। किसी भी प्रकार की खोखली मूर्तियाँ भी न रखें। घर से कबाड़ निकालिए। अगर घर की छत पर खाली मटका, निवार के गोले, टूटी कुर्सी, चारपाई आदि पड़े हैं तो यह सब  कबाड़ी को बेच दें। बैड के सामने या कहीं भी ऐसी जगह दर्पण नहीं लगाना चाहियें, जहाँ से आप के बैड का प्रतिबिम्ब दिखता हो इससे संबंधों में दरार आती है।
  16. बैडरूम में अगर आप तिजोरी या अलमारी रखना चाहते है तो उसे दक्षिण दिशा की दीवार के साथ सटाकर रखें, अलमारी को उत्तर दिशा की ओर खुलना चाहिए ।
  17. घड़ी को कभी भी सिर के नीचे या बिस्तर या बैड के पीछे रखकर नहीं सोना चाहिए इससे आप अनिद्रा के शिकार हो सकते है। vastu_home

Leave a Reply